राष्ट्र की संप्रभुता के साथ हुआ समझौता

14.03.2019

नयी दिल्ली : रक्षा मंत्रालय ने राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट के समक्ष अपने हलफनामे में रक्षा मंत्रालय का कहना है कि राफेल समीक्षा मामले में याचिकाकर्ताओं द्वारा संलग्न दस्तावेज राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति संवेदनशील हैं जो युद्धक विमानों की युद्ध क्षमता से संबंधित हैं। सरकार की तरफ से कहा गया है कि राष्ट्र की संप्रभुता से समझौता हुआ है। बिना इजाजत के दस्तावेजों की फोटोकॉपी की गयी। विरोधी के पास इनकी उपलब्धता ने राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डाला है।

सरकार के वकील ने शीर्ष अदालत से राफेल सौदे से संबंधित मामले में लंबित समीक्षा याचिकाओं में एक हलफनामा दायर करने की अनुमति मांगी थी, जिसकी इजाजत उन्हें मिल गई थी। इस मामले की सुनवाई कल होगी। इससे पहले सरकार की ओर से दावा किया था कि रक्षा मंत्रालय से इस सौदे से संबंधित कुछ दस्तावेज चोरी हो गए थे। हालांकि अब हलफनामे में सरकार ने कहा है कि दस्तावेजों की फोटोकॉपी की गई। राफेल मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और वकील प्रशांत भूषण की ओर से पुनर्विचार याचिका दायर की गई थीं।